Top 6 Best Different Between YouTube And Blogging | YouTube vs Blogging

आज के इस लेख में हम आपको Top 6 Different Between YouTube and Blogging in Hindi के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

जैसा की आप सभी को पता होगा कि Blogging और YouTube दोनों से ही घर बैठे काफी अच्छी कमाई की जा सकती है। लेकिन बहुत सारे लोग कंफ्यूज रहते हैं कि इन दोनों में से कौन सा प्लेटफार्म चुने, क्योंकि बहुत सारे लोगों का मानना है कि ज्यादातर लोग YouTube वीडियो को महत्व देने लगे हैं जिसके कारण ब्लागिंग में कमाई नहीं होती है। 

इसलिए इस लेख में हमने काफी रिसर्च करके YouTube और ब्लागिंग के बीच में अंतर को बताया है, अगर आप भी YouTube और ब्लागिंग को लेकर कंफ्यूज है कि इनमें से आपको कौन सा Platform चुनना चाहिए तो यह लेख आपके लिए उपयोगी होने वाला है।

Top 6 Different Between YouTube And Blogging In Hindi | (YouTube vs Blogging)

हमने यहां पर उन सभी महत्वपूर्ण चीजों के बारे में चर्चा की है, जिसके आधार पर आप यह निर्णय ले सकते हैं कि आपके लिए YouTube और Blogging इन दोनों में से कौन सा प्लेटफार्म ज्यादा सही है।

  1. आपकी टारगेट ऑडियंस किस प्लेटफार्म पर ज्यादा है?
  2. आप किस प्रकार का कंटेंट तैयार करने में सक्षम है? मतलब कि आपको वीडियो बनाना पसंद है या फिर आपको लिखना पसंद है।
  3. जल्दी सफलता YouTube में है या फिर ब्लागिंग में।
  4. Monetization के विकल्प किस प्लेटफार्म पर ज्यादा है? मतलब की कमाई कहां पर ज्यादा हो सकती है।
  5. YouTube और Blogging इन दोनों प्लेटफार्म में शुरुआत करने के लिए व्यय कितना होगा? 
  6. YouTube और ब्लागिंग में से ज्यादा स्वतंत्रता कहां पर है?

हमारे द्वारा बताए गए इन महत्वपूर्ण चीजों के आधार पर आप यह आसानी से चुन सकते हैं कि आपको YouTube (vlogging) करना है या फिर Blogging करनी है।

मेरा मानना है कि आप चाहे YouTube में कैरियर शुरू करें या फिर Blogging में दोनों ही प्लेटफार्म के लिए आपकी कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होनी चाहिए, तभी आप अपने YouTube चैनल या फिर Blog को आगे बढ़ा सकते हैं। 

अगर आप YouTube का चयन करते हैं तो आपको कैमरे के सामने बोलना आना चाहिए। हालांकि कुछ ऐसे टॉपिक भी होते हैं, जहां पर आप बिना अपना चेहरा दिखाएं वीडियो बना सकते हैं, लेकिन फिर भी आपको वहां अच्छे से बोलना आना चाहिए जिससे आपकी ऑडियंस आपकी तरफ आकर्षित हो और चैनल पर audience engagement ज्यादा से ज्यादा हो ताकि आपका चैनल Grow करें।

दूसरी ओर अगर आप Blogging का चयन करते हैं तो यहां पर आपके पास अच्छी लेखन शैली का ज्ञान होना चाहिए। जिससे आपके Blog पर आने वाले Visitors ज्यादा देर तक आपके Blog पर रुके रहे और आपके द्वारा लिखे गए आर्टिकल को पढ़ें। इससे गूगल को आपके Blog पर भरोसा बढ़ेगा और आपका Blog भी धीरे धीरे Grow करेगा।

इसलिए सबसे पहले आपको एकांत में बैठकर खुद के बारे में सोचना चाहिए कि आप इन दोनों चीजों में से क्या अच्छा कर सकते हैं। हालांकि बहुत सारे लोगों को वीडियो बनाने और खुद की रिकॉर्डिंग करने में शर्म आती है, दूसरी ओर ऐसे भी बहुत सारे लोग होते हैं जिनको लिखना बिल्कुल भी पसंद नहीं होता हैं। 

खैर हम आगे बढ़ते हैं और अन्य चीजों के आधार पर Different Between YouTube And Blogging के बारे में जानते हैं।

YouTube vs Blogging (आपकी टारगेट ऑडियंस कहां पर है?)

सबसे पहले आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आज किस चीज के बारे में विशेषज्ञ है या फिर आपको जिस चीज के बारे में ज्ञान है, क्या आपकी ऑडियंस उस चीज को पढ़ना पसंद करती है या फिर वीडियो के रूप में देखना।

मान लीजिए कि आप कॉमेडी बहुत अच्छा कर लेते हैं तो यहां पर आपको पता चल ही गया होगा कि ज्यादातर लोग कॉमेडी को YouTube पर देखते हैं, ना की किसी Blog पर जाकर पढ़ते हैं। 

ठीक इसी प्रकार आप किसी ऐप के ट्यूटोरियल या फिर Movie, Song आदि को ले सकते हैं। हमारा मतलब है कि अगर किसी व्यक्ति को कुछ सीखना होता है तो वह YouTube पर जाएगा ना कि Blog पर।

इसके ठीक विपरीत Blog पर अगर किसी को किसी चीज के बारे में जल्दी से जानना है या फिर कोई बुक आदि पढ़नी है, तो ऐसी चीजों के मामले में ज्यादातर लोग Blog पढ़ना पसंद करते हैं। 

चूंकि किसी व्यक्ति को किसी चीज के बारे में जल्द से जल्द जानकारी प्राप्त करना है, तो वह Blog पर जाता है, क्योंकि YouTube पर सही जानकारी जल्दी से मिलना मुश्किल होता है। हालांकि बहुत सारे ऐसे लोग हैं, जिन्हें पढ़ना और वीडियो देखना दोनों ही पसंद होता है।

Different Between YouTube And Blogging

आप अपनी टारगेट ऑडियंस पता करने के लिए अपने Niche (जिस क्षेत्र के मामले में कार्य करना चाहते हैं, Niche कहलाता है) के कुछ Keywords को गूगल पर जाकर सर्च कर सकते हैं। 

अगर गूगल के सर्च रिजल्ट में आने वाले ज्यादातर रिजल्ट वीडियो से भरे पड़े हैं तो आपको YouTube की तरफ बढ़ना चाहिए। अगर वहां पर ज्यादातर सर्च रिजल्ट Blogs हैं तो वह Niche आपके लिए Blogging पर ज्यादा बेहतर पड़ेगा।

अब आगे Different Between YouTube And Blogging के बारे में अधिक जानने के लिए Content Creation और Distribution को आधार बनाते हैं।

YouTube vs Blogging (आप किस प्रकार का Content तैयार करने में सक्षम है)

दूसरी महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको सबसे पहले यह ज्ञात होना चाहिए कि आप वीडियो बनाने में ज्यादा सक्षम है या फिर Blog लिखने में।

इसके अलावा आपको यह भी सोचना चाहिए कि आप अपनी ऑडियंस के साथ किस प्लेटफार्म के साथ ज्यादा नजदीक रह सकते हैं। मेरा मतलब है कि अगर आप ब्लागिंग के साथ जाते हैं, तो वहां पर आपकी ज्यादातर ऑडियंस आपको अच्छी तरीके से नहीं जान पाएगी, आप क्या है और क्या करते हैं। 

वहीं दूसरी ओर YouTube का चयन करने पर आप Face to Face अपनी ऑडियंस के सामने रहते हैं, जिससे आप ज्यादा तेजी से Famous हो जाते हैं। क्योंकि यहां पर आपकी audience आपके चेहरे के साथ आपको जानेगी।

Blogging के साथ एक बड़ी समस्या यह है कि एक ब्लॉग को मेंटेन रखने के लिए कुछ तकनीकी ज्ञान की आवश्यकता होती है और जहां तक हमारा मानना है कि एक शुरुआती व्यक्ति के लिए यह सब बहुत मुश्किल हो सकता है।

अब आगे Different Between YouTube And Blogging को समझने के लिए इसमें जल्द प्राप्त होने वाली सफलता को आधार बनाते हैं।

YouTube vs Blogging (जल्दी सफलता किसमें मिलेगी)

तीसरी सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि YouTube अथवा ब्लागिंग में से जल्दी सफलता आप किस प्लेटफार्म पर प्राप्त कर सकते हैं?

हालांकि हमारा मानना है कि आप इन दोनों में से किसी भी प्लेटफार्म का चयन करें, आपको consistency और अच्छी प्लानिंग के साथ कार्य करना पड़ेगा और धैर्य रखना पड़ेगा, तभी आप सफल होंगे।

अगर आप YouTube का चयन करते हैं तो उसके लिए आपको अच्छे तरीके से वीडियो क्रिएशन आना चाहिए, इसके साथ ही आपको वीडियो एडिटिंग, थंबनेल इमेज एडिटिंग और कैमरे के सामने अच्छे तरीके से बोलना आना चाहिए।

दूसरी ओर अगर आप Blogging का चयन करते हैं तो इसके लिए आपके पास अच्छी लेखन शैली के साथ, SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन) का अच्छा खासा ज्ञान होना चाहिए। हमारी रिसर्च के अनुसार एक शुरुआती Blog को गूगल पर रैंक करवाना एक Beginner Blogger के लिए काफी कठिन है।

Different Between YouTube And Blogging1

अगर आप उस क्षेत्र में वीडियो बनाएंगे जिस चित्र में वीडियो की मांग बहुत है और उपलब्धता कम तो आप YouTube पर जल्दी सफल होंगे। 

इसी प्रकार अगर आप किसी ऐसे Niche पर Blog लिखते हैं जहां पर बहुत ही कम आर्टिकल उपलब्ध है, तो ब्लॉग पर भी आप जल्दी सफल हो सकते हैं। इस प्रकार अगर आप Consistency के साथ मेहनत करते हैं तो आप दोनों ही प्लेटफार्म पर सक्सेसफुल हो सकते हैं।

अब हम Different Between YouTube And Blogging को जानने के लिए इन दोनों प्लेटफार्म पर होने वाले मोनेटाइजेशन विकल्प को आधार बनाएंगे।

YouTube vs Blogging में से अधिक Monetization विकल्प कहां पर है?

अगर कमाई के मामले में देखा जाए तो दोनों ही प्लेटफार्म पर अच्छी खासी कमाई हो सकती है। लेकिन अगर बात की जाए कमाई करने के अधिक मोनेटाइजेशन विकल्प की तो इस मामले में एक Blog ज्यादा बेहतर है।

अगर आप वर्डप्रेस के साथ Blog शुरू करते हैं, तो आप अपने Blog के मालिक होते हैं और उसका किसी भी प्रकार से इस्तेमाल कर सकते हैं। आप अपने Blog के किसी भी हिस्से पर affiliate link, sponsored post, sponsored आदि लगा सकते हैं। 

इसके अलावा भी बहुत सारे मोनेटाइजेशन विकल्प होते हैं, जो बहुत ही लचीले हैं और आप उनका प्रयोग किसी भी तरह से अपने Blog पर कर सकते हैं।

वहीं दूसरी ओर अगर YouTube के मामले में देखा जाए तो यहां पर आप affiliate link, sponsored videos को अपने चैनल के लोकप्रिय होने के बाद ही चैनल पर लागू कर सकते हैं। 

इसके अलावा आप अपने YouTube चैनल पर गूगल ऐडसेंस के अलावा अन्य किसी भी प्रकार का Advertisement Network नहीं उपयोग कर सकते हैं। जबकि एक Blog में आप एक साथ कई Advertising Networks का उपयोग कर सकते हैं।

इसके अलावा Blogging का एक बहुत ही बड़ा फायदा यह है कि आप कभी भी अपने Blog के आर्टिकल को संपादित (Edit) कर सकते हैं। वहीं दूसरी ओर YouTube के वीडियो को बार-बार संपादित करना बहुत ही कठिन काम है।

अब हम Different Between YouTube And Blogging को गहराई से समझने के लिए इन दोनों प्लेटफार्म को शुरू करने में होने वाले खर्च को आधार बनाएंगे।

YouTube vs Blogging में से ज्यादा खर्च किसमें है?

अब बात आती है कि YouTube और Blogging में से किसी एक को शुरू करने के लिए कितना खर्च लग सकता है। चूंकि आप इन दोनों में से किसी एक का चयन करने वाले है, इसलिए आपको इसमें होने वाले खर्च की जानकारी अवश्य होनी चाहिए।

अगर आप Blogging शुरू करना चाहते हैं, तो Blog बनाने के लिए आपके एक अच्छी सी Hosting और एक अच्छी सी Theme का होना बहुत ही जरूरी है। 

एक Hosting आपके Blog के डाटा को हर वक्त इंटरनेट से जोड़े रखती है, और एक थीम आपके Blog को अच्छा सा लुक प्रदान करती है। इसके अलावा कुछ plugins भी आते हैं, जो आपके Blog की कार्य क्षमता को बढ़ाने में मददगार होते हैं। लेकिन यह आप पर निर्भर करता है कि आप उन्हें खरीदते हैं या नहीं।

एक शुरुआती व्यक्ति के लिए फ्री के Plugins ही काफी है। कुल मिलाकर अगर एक शुरुवाती Blog के लिए अच्छी होस्टिंग और एक अच्छी सी थीम लेना हो तो इस पर 1 साल के लिए लगभग 3 से 4 हजार तक का खर्च आ जाता है।

अगर आप YouTube शुरू करने वाले हैं, तो इसके लिए आपको किसी भी प्रकार की होस्टिंग और थीम की आवश्यकता नहीं पड़ती है। क्योंकि यहां पर आपके Videos YouTube के सर्वर पर अपलोड होते हैं और उसके लिए आपको किसी प्रकार का पैसा देने की आवश्यकता नहीं है।

YouTube के लिए बस आपके पास एक अच्छा सा कैमरा और माइक वाला स्मार्टफोन होना चाहिए और आप उसी स्मार्टफोन में एक अच्छा सा video editing software भी Install कर सकते हैं।

लेकिन अगर आप चाहते हैं कि आपके द्वारा YouTube पर अपलोड किया जाने वाला वीडियो उच्च गुणवत्ता वाला हो, तो इसके लिए आपके पास एक अच्छा सा कैमरा और माइक होना चाहिए। 

इसके लिए आपको लगभग 10 से 15 हजार तक खर्च करने पड़ सकते हैं, हालांकि यह ज़रूरी नही है कि आपके पास ये उच्च गुणवत्ता वाले टूल हों, आप यह कार्य शुरू में अपने Smartphone से भी कर सकते हैं। 

इसके साथ ही आपको उच्च गुणवत्ता की वीडियो एडिटिंग वाले सॉफ्टवेयर जैसे एडोबी प्रीमियर प्रो का ज्ञान होना चाहिए।

अब आगे Different Between YouTube And Blogging के बारे में अधिक जानने के लिए स्वतंत्रता को आधार बनाते हैं।

Different Between YouTube And Blogging2

YouTube vs Blogging में से ज्यादा स्वतंत्रता कहां पर है?

अब बात आती है कि आपको ज्यादा स्वतंत्रता YouTube और Blogging में से कहां पर मिलती है?

अगर बात की जाए Blogging की तो यहां पर आप अगर वर्डप्रेस के साथ Blog बनाते हैं, तो यह पूरी तरह से आपके नियंत्रण में होता है। आप जो भी चाहे अपने Blog के साथ कर सकते हैं।

दूसरी तरफ अगर YouTube की बात की जाए तो YouTube गूगल की संपत्ति है और यहां पर आप को पूर्ण स्वतंत्रता नहीं मिलती है। आपके द्वारा अपलोड किए जाने वाले वीडियो पर आपका पूरा नियंत्रण नहीं होता है और आपको YouTube के नियम और प्राइवेसी पॉलिसी के अनुसार कार्य करना पड़ता है।

क्योंकि अगर आपने जरा भी गलती की तो YouTube आपका चैनल बैन कर सकता है, इस प्रकार आप YouTube की दया पर निर्भर रहते हैं। 

Conclusion

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह पोस्ट “Top 6 Different Between YouTube And Blogging” पसंद आया होगा और हमें पूरा विश्वास है, कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको बहुत सारी महत्वपूर्ण जानकारी मिली होगी।

हमने इस लेख के द्वारा Youtube vs Blogging से जुड़े आपके सभी दुविधाओं को दूर करने का प्रयास किया है। 

कुल मिलाकर अगर सारांश के रूप में देखा जाए तो एक शुरुआती व्यक्ति के YouTube ज्यादा सही है, क्योंकि YouTube पर वीडियो की मांग बहुत ही ज्यादा है और उपलब्धता मांग के अनुरूप कम है। 

यह आप पर निर्भर करता है कि हमारे द्वारा जानकारी प्रदान करने के बाद आप किस प्लेटफार्म का चयन करते हैं। आपके बेहतर भविष्य के लिए हमारी ओर से बहुत सारी शुभकामनाएं।

यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें, जिससे अन्य लोगों को भी इस लेख से जुड़ी हर एक जानकारी मिल सके।

यदि आपके मन में इस पोस्ट से संबंधित कोई प्रश्न हो तो नीचे कमेंट के माध्यम से अवश्य पूछे हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर अवश्य देंगे धन्यवाद…

Hindi Digital Trends

Hi, I'm Keshab Sarmah Founder & Writer of Hindi Digital Trends. Hindi Digital Trends is Designed to Help the Peoples who want to stay updated with the latest Technology simultaneously want to earn money online through the Genuine Way.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *