Firewall Protects क्या है Aur कैसे काम करता है I इसके Best फायदे व नुकसान क्या है?

आज हम आपको बताने वाले हैं कि Firewall Protects Kya Hai? Firewall Protects Kaise Kaam Karta Hai? इसलिए कृपया पूरा लेख पढ़ें।

हम जब भी अपने लैपटॉप या कंप्यूटर के जरिए इंटरनेट पर ब्राउज़र एक्सेस करते हैं, तो इंटरनेट पर कई तरह के ऐसे भी साइट होते है, जिनमें किसी भी तरह का malware या virus होता है। ये किसी भी तरह का हो सकता है इसलिए अपने Computer और Laptop के लिए आपको एक सिक्योरिटी की जरूरत होती है, ताकि किसी भी तरह के virus या malware अटैक से आप इसे बचा सके।

Firewall protects मालवेयर या वायरस अटैक अटैक से आपकी नेटवर्क को सुरक्षित रखता है, ये आपके सिस्टम एक्सेस या नेटवर्क और इंटरनेट के बीच में एक मेडिएटर के तौर पर काम करता है और इसके बहुत सारे फायदे हैं।

Firewall Meaning In Hindi

लैपटॉप या कंप्यूटर में रखे हुए हमारा confidential data किसी दूसरे अनजान व्यक्ति के हाथ ना लगे इसके लिये हम “Firewall” का इस्तेमाल करते हैं। 

जो लोग Computer और Internet का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, उनके लिए इसका उपयोग और इसके बारे में जानना इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि सुरक्षा बेहद आवश्यक होती हैं। फिर चाहे असल जिंदगी की हो या फिर टेक्नोलॉजी के बढ़ते उपयोग के कारण हमारे पर्सनल डाटा की।

Firewall Protects Kya Hai?

Firewall Protects कम्प्यूटिंग और नेटवर्क में एक सिक्योरिटी सिस्टम होता है जो By Default सिक्योरिटी सिस्टम के टर्म्स एंड कंडीशन के According इनकमिंग और आउटगोइंग नेटवर्क को मॉनिटर और कंट्रोल करता है और उसे किसी भी तरह के malware अटैक से बचाता है ।

Firewall Protects कंप्यूटर और नेटवर्क पर आने वाले ट्रैफिक को Traffic Filtering प्रोसेस के जरिए Rules और पॉलिसी के according काम करता है , आसान भाषा में Firewall एक मशीन से पूरे नेटवर्क को किसी भी चीज के इनबाउंड और आउटबाउंड कम्युनिकेशन को कंट्रोल करता है।

Firewall Protects सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन होता है जो एंटीवायरस की तरह कंप्यूटर या लैपटॉप में malicious virus या Destructive और unwanted files से बचाता है और ये Hardware और software दोनों पर Based होता है।

Firewall Protects

Firewall Protects कैसे काम करता है?

Firewall अपने Users को 2 way protection देता है, ये एक विश्वसनीय internal नेटवर्क और अविश्वसनीय एक्‍सटर्नल नेटवर्क के बीच एक बैरियर बनाता है। और unauthorized इंटरनेट यूजर्स को इंटरनेट से connect प्राइवेट नेटवर्क के एक्सेस को रोकता है और सारा डाटा जो Firewall के माध्यम से डाटा एंट्री करता है या बाहर जाता है उसे ये चेक करता है। इसके अलावा जो सिक्योरिटी क्राइटेरिया के टर्म कंडीशन को पूरा नहीं करता उसे ब्लॉक कर देता है ।

आमतौर पर, Firewall का काम unauthorized इंटरैक्टिव लॉगिन से बचाने के लिए Configure किया जाता है, जो नेटवर्क में प्रवेश करने से हैकर्स को रोकता है, ज्यादातर Firewall सिर्फ उन्ही चीजों को अंदर आने देता है, जिसको हम आने के लिए इजाजत देते हैं और इसके अलावा किसी भी तरह का virus को अन्दर नही आने देता।

ये कंप्यूटर नेटवर्क और सुरक्षित रखने के लिए सॉफ्टवेयर प्रोग्राम या हार्डवेयर डिवाइस के जरिए मौजूद होता और हमें किसी भी तरह के अनवांटेड malware से बचाता है, ये एक सुरक्षा कवच की तरह काम करता है। इसमें पहले से ही Predetermined Feature Set होता हैं, जो ये तय करता है, कि किस IP Address को Allow करना है और किसे Block करना है।

Firewall Protects Businesses की सुरक्षा कैसे करता है?

बड़े बड़े कॉरपोरेट ऑफिस और विभिन्न बिजनेस के नेटवर्क की सुरक्षा के लिए जटिल Firewall का इस्तेमाल किया जाता है।

High Firewall System सेटअप ऐसे प्रोग्राम को ब्लॉक कर देता है, जो कंपनी के डाटा और नेटवर्क को नुकसान पहुंचा सकता है। किसी भी कंपनी के द्वारा अपने Employees को बिजनेस ईमेल भेजने या नेटवर्क के बाहर confidential data को संचारित करने से रोकने के लिए firewalls को configure किया जाता है।

कंपनी को फाइनेंशियल अकाउंटिंग और कार्ड से रिलेटेड किसी भी तरह के हैकर अटैक से Firewall बचाता है। Firewall Protects का use करते वक्त अलग-अलग प्रकार के configurations की कोई limit नहीं है। Business Firewall configuration को उच्च प्रशिक्षित IT विशेषज्ञों द्वारा संचालित किया जाता है। इसके अलावा कस्टमर डाटा और इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी का गलत इस्तेमाल करने की कोशिश करता है तो उसे भी ये प्रोटेक्ट करता है।

Firewall कितने प्रकार के होते हैं? Types of Firewall In Hindi

आमतौर पर तीन प्रकार के Firewall होते हैं, हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और Proxy आदि लेकिन इसके अलावा कुछ और स्टैंडर्ड Firewall भी होते हैं। जैसे की Packet Filtering, Circuit – Level Gateway,Stateful Inspection, Application ओर Next Generation Firewall (NGFW) आदि।

Hardware Firewall Protects क्या है?

हार्डवेयर Firewall एक फिजिकल डिवाइस होता है, जिसमें पहले से ही pre install network security rules होते है और इसे नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर के द्वारा जरूरत के अनुसार set किया जाता है। इसका इस्तेमाल नेटवर्क के गेटवे पर किया जाता है, जहां पर इसका काम Internal Or external network traffic को जांच कर कुछ गलत पाए जाने पर उसे ब्लॉक करना होता है।

ये किसी भी Particular कंप्यूटर या लैपटॉप के लिए काम नहीं करता है, बल्कि पूरे नेटवर्क को ही मैलवेयर और वायरस अटैक से सुरक्षित करता है। जैसे कि अब Router में पहले से ही इनबिल्ट Firewall होता है जिसका फायदा ये होता है कि बड़ी बड़ी कंपनियों में सारे कंप्यूटर एक ही नेटवर्क से जुड़े होते हैं और अगर किसी कारणवश एक कंप्यूटर में वायरस आ जाए तो नेटवर्क के जरिए सभी कंप्यूटर में वायरस ना पहुंचे इसलिए एक हार्डवेयर Firewall लगा दिया जाता है।

Firewall Protects1

Software Firewall Protects क्या है?

इस समय जितने भी नए कंप्यूटर और लैपटॉप आते हैं, फिर चाहे वो Vista XP हो या फिर windows 8,9, 10 सब में pre-installed Software Firewall होता है। जो कि एंटीवायरस की तरह काम करता है, हम इसे चाहे तो खरीद कर भी इनस्टॉल कर सकते है और ये सॉफ्टवेयर Firewall आने वाले और जाने वाले दोनों डाटा को फिल्टर करता है।

Software Firewall डिवाइस को वायरस पर दूसरे सिक्योरिटी Threats से बचाता है और एक नॉर्मल Firewall हमारे विंडो के साथ में पहले ही आता है। लेकिन इसे और ज्यादा सुरक्षित बनाने के लिये इंटरनेट से भी वायरस ना आ जाए, इसलिए हमें दूसरे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करना पड़ता है जैसे कि  Avast, McAfee, Norton, Quick Heal आदि।

Software Firewall ऑनलाइन ओर ऑफलाइन दोनों माध्यमों से काम करता है। अगर ऑनलाइन किसी फ़ाइल या Apps को इनस्टॉल करते है, तो App इनस्टॉल होने से पहले एक Pop-Up दिखाई देता है। 

जिसमें Windows Firewall किसी Unknown Sources से डाउनलोड की गई App के बारे में हमें बताता है और हमारे परमिशन के बाद ही किसी सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करने देता है। और अगर कभी वाईफाई, पेन ड्राइव के जरिये कंप्यूटर में यदि फाइल या सॉफ्टवेयर करते हैं, तो Firewall सुरक्षा के रूप में इन एप्स की जांच कर फिर उसे इंस्टॉल करता है।

Proxy Firewall Protects क्या है?

प्रॉक्सी Firewall बाकी Firewall के मुकाबले सबसे सुरक्षित माना जाता है क्योंकि जब हम इंटरनेट पर कुछ सर्च करते हैं तो HTTPS तथा FTP प्रोटोकॉल के तहत आने वाले ट्रैफिक पर नजर रखता है और प्री इंस्टॉल सिस्टम कमांड के जरिए Allow किये गए ट्रैफिक ओर Not Allow किये गये ट्रैफिक के बारे में पता लगाता है।

प्रॉक्सी Firewall का खुद का आईपी एड्रेस होता है और इसका मुख्य काम डाटा को ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। और उसे जांचने का काम पैकेट फिल्टर द्वारा किया जाता है और प्रॉक्सी Firewall के पास पूरे नेटवर्क पैकेट की जांच करने की क्षमता होती है लेकिन ये सभी नेटवर्क प्रोटोकॉल के साथ में Compatible भी नहीं होता है।

Packet Filtering Firewall Protects क्या है?

इस Firewall को Private network ओर internet के बीच में इंस्टॉल किया जाता है और ये प्री इंस्टॉल इंस्ट्रक्शन के बेसिस पर काम करते हैं। internet से जो भी डाटा पैकेज कंप्यूटर में आते हैं उन्हें ये मॉनिटर और कंट्रोल करता है। 

ये pre installed Rule पर काम करता है इसलिए इसमें पहले से ही instruction सेट कर दिए जाते हैं कि किस टाइप के Data packet को ब्लॉक करना है या Allow करना है। जैसे कि IP address, protocol,port number, header आदि अगर इनका criteria को डाटा पैकेट मैच करते हैं उसे Allow किया जाता है और न करने पर उसे Packet Filtering Firewall के द्वारा ब्लॉक कर दिया जाता है।

Stateful Inspection Firewall Protects क्या है?

Stateful Inspection Firewall में Packet Filtering और Circuit  Level Gateway दोनों का उपयोग किया जाता है। जिसमे Packet और Session दोनों की फिल्टरिंग होती है और Secure Connection की जांच होती है और डाटा पैकेट को फिल्टर किया जाता है। अगर इन दोनों Firewall में से किसी में भी कोई दिक्कत होती है, तो उस Connection को ब्लॉक कर दिया जाता है।

Firewall Protects2

Circuit Level Gateway Firewall Protects क्या है?

ये Firewall TCP और OSI Model पर काम करता है, जिसमें Proxy Server का उपयोग किया जाता है, इसके जरिए Client ओर Source के बीच Firewall इंस्टॉल किया जाता है। जिसके जरिये यूजर किसी Web Page को ब्राउज़ करता है तो सर्वर की असली IP Address उसके पास नहीं जाती बल्कि Gateway Firewall की IP एड्रेस जाती है और इसको Proxy Firewall भी कहते है क्योंकि इसमें प्रॉक्सी सर्वर का उपयोग होता है।

Application Firewall Protects क्या है?

इस प्रकार के Firewall का उपयोग Application लेवल पर किया जाता है और इसका उपयोग किसी भी specific application या फिर web page को सुरक्षित करने के लिए किया जाता है। इसका उद्देश्य Vulnerabilities से सुरक्षित रखना होता है, हैकर्स application ओर web page को हैक करने के फिराक में रहते है और इन्हीं सब चीजों को रोकने के लिए Application Firewall बनाया गया है।

Next Generation Firewall (NGFW) क्या है?

NGFW Firewall के एडवांस कैटेगरी में आता है, जिसके अंदर सभी Modern Firewall को शामिल किया जाता है, जैसे कि Packet Filtering,Proxy आदि। इसके अलावा Next Generation Firewall के अंदर Advanced Techniques को शामिल किया जाता है जैसे Deep Packet Inspection ( DPI ), Intrusion Prevention System ( IPS ), Packet Analyzer IP mapping और नेटवर्क मॉनिटरिंग आदि।

Next Generation Firewall में कुछ और तकनीक को शामिल करके जैसे कि Encrypted Traffic Inspection, Website Filtering, Content Filtering, Antivirus Protection, Include Strong OSI Model, के जरिए इसे और स्ट्रांग बनाया जा सकता है जो डाटा पैकेट को पूरी तरह से Analysis कर सके।

Firewall के लाभ क्या है? Advantages of Firewall in Hindi

Firewall Protects से विभिन्न तरह के फायदे होते हैं जैसे कि:

Improved security: कंप्यूटर में आने वाले और बाहर जाने वाले ट्रैफिक पर Firewall नजर रखता है, अगर आप कोई डाटा बाहर भेजते हैं तो उसकी भी जांच करता है और अगर  उसमें कुछ गलत पाता है तो उसे ब्लॉक कर देता है।

Protection: ये आपके कंप्यूटर और लैपटॉप को  malware attack, hacking ओर spyware से बचाता है और आपकी डाटा प्राइवेसी को भी सिक्योर करता है।

Unauthorised Remote Access: कंप्यूटर में होने वाली सबसे बेकार चीजों में से एक है, Unauthorised हैकर्स आपके Remote Access कर लेते है और इसे Firewall सभी अनधिकृत रिमोट एक्सेस को रोकता हैं।

Block Virus: Firewall Trojan को ब्लॉक कर देता है, ट्रोजन बहुत खतरनाक होते हैं क्योंकि जहां जहां आप जाते है, आपके के जरिए यह भी अपनी जगह बदलते रहते हैं और ये कंप्यूटर को तब बहुत नुकसान हो जाता है जब यह वेब सर्वर तक पहुंच जाता है।

Lower Cost: हम बहुत कम प्राइस में कंप्यूटर के अंदर मौजूद इंपॉर्टेंट फाइल्स और डॉक्यूमेंट को सिक्योर कर सकते है।

Easy installation : कंप्यूटर या लैपटॉप में कुछ मिनटों में ही खुद से सॉफ्टवेयर फायरफॉल installation कर सकते हैं, लेकिन Windows और mac के अंदर प्री इंस्टॉल Firewall सॉफ्टवेयर होते हैं और अगर आप चाहे तो Hardware Firewall भी खरीद कर कंप्यूटर में लगा सकते हैं।

Content Filtering: इसके जरिए नेटवर्क में जरूरत के हिसाब से इंटरनेट वेबसाइट को Allow या फिर Block कर सकते है।

Virtual connectivity: इसके जरिए अलग-अलग कंपनी branches या रिमोट यूजर को LAN नेटवर्क से जुड़ सकते हैं और इसके जरिए यूजर कहीं भी और कभी भी अपने कंपनी नेटवर्क से जुड़ सकता है।

Grouping: इसके सभी फीचर्स को ग्रुप या डिपार्टमेंट के जरिए कंट्रोल कर सकते हैं, फिर चाहे Bandwidth management हो या Content Filtering या और कोई भी सिक्योरिटी feature की सभी को ग्रुप बनाकर कंट्रोल कर सकते हैं।

Firewall के नुकसान क्या है? Disadvantage of Firewall In Hindi

Hardware Firewall Protects Cost – सॉफ्टवेयर Firewall के कंपैरिजन मे हार्डवेयर Firewall  बहुत महंगे होते हैं क्योंकि इसकी मेंटेनेंस भी काफी महंगी होती है, ये सब बिना किसी IT staff के द्वारा हैंडल नहीं किया जा सकता है।

Maintenance – इसे  मेंटेन करना कई बार मुश्किल हो जाता है, क्योंकि इसे मेंटेन करने का उद्देश्य है कि समय-समय पर नई नई कमांड को एक्टिव करना होगा और पुराने पॉलिसी पर भी ध्यान देना होगा।

Degraded Performance: जब भी हम सॉफ्टवेयर Firewall को इस्तेमाल करते हैं तो, ये हमारे कंप्यूटर या लैपटॉप के परफॉर्मेंस को थोड़ा सा  कम कर देता है क्योंकि बाहर से आने वाले ट्रैफिक को जांचने में सिस्टम का परफॉर्मेंस Degraded हो जाता है।

Firewall Protects3

Wrong Firewall: यूजर जब भी Firewall का इस्तेमाल करें किसी ट्रस्टेड कंपनी के Firewall को ही अपने सिस्टम में इंस्टॉल करें क्योंकि कुछ ऐसे गलत Firewall होते हैं जो proper security नहीं दे पाते और अपने साथ unwanted फाइल को लाते है।

अच्छा Firewall कैसे चुने?

Best Hardware and Software Firewall company को इस लेख में हमने शामिल किया है, जिसमें से SonicWall, WatchGuard, FortiGate, pfSense, Checkpoint और IPFire बेस्ट हार्डवेयर Firewall कंपनी है। इसके अलावा McAfee, cisco ASA NGFW आदि बेस्ट सॉफ्टवेयर firewall कंपनी है।

Conclusion

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से आपने जाना कि Firewall Protects Kya Hai? Firewall Kaise Kaam Karta Hai?  Firewall के प्रकार? Firewall से होने वाले लाभ?  Firewall से होने वाली हानि? Firewall के कार्य क्या है? इसके अलावा आपने Firewall से जुड़ी महत्वपूर्ण प्रश्नों के बारे में जानकारी हासिल की।

हम आशा करते हैं, आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और Firewall से जुड़ी यह जानकारी अच्छी लगी होगी। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें जिससे अन्य लोगों को भी Firewall जुड़े हर एक जानकारी मिल सके।

यदि आपके मन में इस पोस्ट से संबंधित कोई प्रश्न हो तो नीचे कमेंट के माध्यम से अवश्य पूछे हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर अवश्य देंगे धन्यवाद.

Hindi Digital Trends

Hi, I'm Keshab Sarmah Founder & Writer of Hindi Digital Trends. Hindi Digital Trends is Designed to Help the Peoples who want to stay updated with the latest Technology simultaneously want to earn money online through the Genuine Way.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *