Computer Fundamental in Hindi I Top 05 Secrets Information About Computer

Computer Fundamental in Hindi

अगर आप एक विद्यार्थी है और कंप्यूटर से संबंधित तैयारी कर रहे है तो उससे पहले कंप्यूटर के फंडामेंटल के बारे मे पढना काफी जरूरी होता है। कंप्यूटर के बिना किसी भी काम को करना आज के समय मे ना के बराबर हो जाता है। इस लेख में आपको Computer fundamental के बारे में ही बताया जा रहा है। इसलिए चलिए मेरे साथ एक ऐसे सफर पर जहां पर कि मैं आपको Computer Fundamental In Hindi के बारे में बताने वाले हैं.

कम्प्यूटर क्या होता है ? ( Computer fundamental in hindi 

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो यूजर्स से डाटा लेता है, उसे प्रोसेस करता है और उसका आउटपुट रिजल्ट के रूप में देता है। कंप्यूटर के शब्दों में इस इनपूट – आऊटपूट कहा जाता है। कंप्यूटर केवल एक मशीन नहीं होती है यह कई अलग – अलग मशीनों से बना होता है। कंप्यूटर के कई अलग – अलग भाग होते है जो इस पूरी इलेक्ट्रॉनिक मशीन को कंप्यूटर बनाने में मदद करते है। 

कंप्यूटर के भाग

कंप्यूटर को कई अलग – अलग भागों में बांटा जाता है। इस सभी भागों का कंप्यूटर में अलग – अलग और विशेष उपयोग है। 

  • सीपीयू – इस भाग को कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता है। यह कंप्यूटर का मुख्य भाग होता है। इस सीपीयू में कंप्यूटर के सभी जरूरी पार्ट्स लगे होते है हार्ड डिस्क, फ्लॉपी, सीडी डिवाइस, रैम, रोम, मदरबोर्ड इत्यादि। इस डिवाइस की सहायता से कंप्यूटर का संचालन पूरी तरीके से होता है। 
  • मॉनिटर – कंप्यूटर का एक और अन्य भाग मॉनिटर है जो की एक टीवी के समान होता है। हमारे द्वारा कंप्यूटर को जो भी निर्देश दिये जाते है उनके बारे में हमें इस मॉनिटर पर दिखाई देते है। मॉनिटर कंप्यूटर का महत्वपूर्ण भागों मे से एक है। 
  • कीबोर्ड / माउस – कंप्यूटर के अन्य भागों में इन दो को भी शामिल किया जाता है। कंप्यूटर में माउस हाथ के रूप में काम करता है जबकि कीबोर्ड को कंप्यूटर में कुछ भी टाइप करने के लिए काम में लिया जाता है। 
Computer fundamental

इन भागों को कम्प्यूटर के मुख्य भागों में रखा जाता है यानी इन भागों के बिना कंप्यूटर का उपयोग करना मुश्किल होता, इसके अलावा भी अन्य कंप्यूटर के भाग होते है  जिनमे स्कैनर, प्रिंटर इत्यादि शामिल है। 

कम्प्यूटर के महत्वपूर्ण अंग ( Major part of computer )

कंप्यूटर के ऊपर वर्णित भागों के अलावा कंप्यूटर के दो मुख्य अंगों का भी वर्णन मिलता है जो की निम्न है। 

  • Software – Computer में Install एक ऐसी चीज जिसे हम देख सकते है परन्तु उसे छू नहीं सकते हैं उसे Software कहां जाता है। कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर को दो भागों में बांटा जाता है वे निम्न है। 

System software – कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर के भागों में से एक यह एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होता है जिसका उपयोग कंप्यूटर के मुख्य भागों के रूप में किया जाता है। कंप्यूटर के इंस्टॉल Window 7, 8, 8.1, 10 System software का ही एक उदाहरण है। 

  • Application Software – System software के अलावा हमारे द्वारा जो भी कंप्यूटर के इंस्टॉल किया जाता है उसे एप्लीकेशन Software जैसे MS office. Photoshop, CorelDraw इत्यादि एप्लीकेशन Software के ही उदाहरण है। 
  • Hardware – कंप्यूटर महत्वपूर्ण भागों मे हार्डवेयर को भी रखा जाता है। हार्डवेयर यानी कंप्यूटर के वे भाग जिन्हे हम छू सकते है जैसे Keyboard, CPU, Mouse इत्यादि। 

कंप्यूटर में Input / Output पोसेस और डिवाइस – Input output device and process in computer 

कम्पयूटर की परिभाषा पढ़े तो हमें इन Input / Output के बारें में पता चलता है। उनकी परिभाषा कुछ इस प्रकार है। 

  • Input – वह प्रक्रिया जिसके करने से कंप्यूटर को हम आदेशित कर सकते है की कंप्यूटर को क्या करना है। इस प्रोसेस में कुछ हार्डवेयर भी शामिल होते जिसमें यह है। 
  • Processing – कंप्यूटर यूजर के कमांड के आधार पर अपने डाटा को प्रोसेस करता है और इसके आधार पर आउटपुट देता है। 
  • Output – इसमे प्रोसेस में वे डिवाइस शामिल होते है जिससे आप कंप्यूटर में होने वाली गतिविधियों को बाहर देख पाते है या उसका आउटपुट ले पाते है।

कम्प्यूटर के लक्षण 

अगर हम Computer Fundamental की बात करें तो इसमें कंप्यूटर के लक्षण भी शामिल है। 

  • Automatic : दूनिया मे उपयोग किया जाने वाला कंप्यूटर एक Automatic Machine है। कंप्यूटर अपना काम बिना किसी मनुष्य के Interfere के करता है। 
  • Accuracy : कंप्यूटर के कार्य में किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप नहीं चलता है, कंप्यूटर के कार्य पूरी तरीके से सही और सटीक होते है। उसमे किसी भी प्रकार की गलती निकालना मुश्किल होता है।  
  • Speed : कंप्यूटर को बनाया तो मनुष्य ने है परन्तु इसकी स्पीड एक मनुष्य से भी तेज है। यह काफी तेजी से कार्य करते है और कंप्यूटर द्वारा इसके सारे प्रोसेस भी तेजी से ही किये जाते है। 
  • Versatility : कंप्यूटर की गति जितनी तेज है उसे ही कई ज्यादा तेज है. कंप्यूटर के कार्य करने की क्षमता है, यह कुछ मिनटों के काम बड़ी आसानी से कुछ सेकेंड में भी कर सकता है। 
  • Power of remembering : कंप्यूटर की याददाश्त काफी तेजी होती है। कंप्यूटर को कुछ भी याद दिलाने की जरूरत नही होती है। कंप्यूटर की मेमोरी काफी तेज होती है। 
Computer fundamental in hindi 1

Computer fundamental से जुडी कुछ Full Forms 

कंप्यूटर से संबंधित कुछ जरूरी महत्वपूर्ण फुल फॉर्म जो की आपको जानना जरूरी है। यह फुल फॉर्म हमारे दैनिक कंप्यूटर जीवन में काम में आती है। 

  • CPU = Central Processing Unit
  • RAM = Random Access Memory
  • ROM = Read Only Memory
  • PROM = Programmable Read Only Memory
  • EPROM = Erasable PROM
  • EEPROM = Electrically EPROM
  • HDD = Hard Disk Drive
  • FDD = Floppy Disk Drive
  • CD = Compact Disk
  • DVD = Digital Video Disk
  • SMPS = Switch Mode Power Supply
  • USB = Universal Serial Bus
  • LAN = Local Area Network
  • WAN = Wide Area Network
  • MAN = Metropolitan Area Network
  • PDF – Portable Document Format
  • GUI – Graphical User Interface.
  • IP – Internet Protocol.
  • ISP – Internet Service Provider

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में अंतर 

  • Software को हम केवल देख सकते है जबकि Hardware को देख भी सकते है व इसे छू भी सकते है। 
  • Software Computer programming के द्वारा बनाये जाते है जबकि हार्डवेयर को बनाने में कई अलग – अलग प्रकार के Mattel का प्रयोग किया जा सकता है। 
  • Software को हम Application software, software जैसे अलग – अलग प्रकारों में जानते है जबकि को हम CPU, Monitor, Mouse, Keyboard इत्यादि के नाम से जानते है। 

कम्प्यूटर के प्रकार 

वैसे तो कंप्यूटर कई प्रकार के होते है। जब इस कंप्यूटर की शुरुआत हुई थी तो उस समय कंप्यूटर इतने बडे – बडे होते थे की उनको रखने के लिए एक बड़े कमरे की आवश्यकता होती थी। आज के वर्तमान समय में जो भी कंप्यूटर आते है उन्हें आप हथेली पर भी रख सकते है। कंप्यूटर को आकार के आधार पर कई भागों में बांटा जा सकता है। अलग – अलग कंप्यूटर की अलग – अलग साइज व अलग – अलग टाईप होते है। डाटा प्रोसेसिंग व गति के आधार पर भी कंप्यूटर को बांटा जा सकता है। कंप्यूटर के कुछ भाग निम्न है। 

आकार के आधार पर 

  1. माइक्रो कंप्यूटर (Microcomputer)
  2. मिनी कॉम्पुटर (Minicomputer)
  3. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer)
  4. सुपर कंप्यूटर (Supercomputer)

अनुप्रयोग के आधार पर

  1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer)
  2. डिजिटल कम्प्यूटर (Digital Computer)
  3. हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer)

निष्कर्ष 

इस लेख में आपको Computer fundamental in hindi  के बारे में बताया गया है। जो भी जानकारी आपको इस लेख के माध्यम से दी गई है वह एक विद्यार्थी के लिए उपयोगी साबित हो सकती है। उम्मीद करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा। आप अपने सुझाव हमें नीचे कमेंट करके बता सकते है। 

Hindi Digital Trends

Hi, I'm Keshab Sarmah Founder & Writer of Hindi Digital Trends. Hindi Digital Trends is Designed to Help the Peoples who want to stay updated with the latest Technology simultaneously want to earn money online through the Genuine Way.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *